Tooltip

दाग़ दुनिया ने दिए ज़ख़्म ज़माने से मिले, हम को तोहफ़े ये तुम्हें दोस्त बनाने से मिले

Tooltip

एक मुद्दत से तेरी याद भी आई न हमें   और हम भूल गए हों तुझे ऐसा भी नहीं

Tooltip

मुझे याद है कभी एक थे मगर आज हम हैं जुदा-जुदा वो जुदा हुए तो संवर गए हम जुदा हुए तो बिखर गए

Tooltip

कभी नींद में कभी होश में तो जहाँ मिला तुझे देखकर न नज़र मिली न जुबां हिली यूँ ही सर झुका के गुज़र गए

Tooltip

हम तो समझे थे कि हम भूल गए हैं उनको क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया

Tooltip

तलाश जिसकी रही उम्र भर वही न मिला बिछड़ के मुझसे मेरा यार फिर कभी न मिला 

Tooltip

आप की याद आती रही रात भर चश्म-ए-नम मुस्कुराती रही रात भर |

Tooltip

वो अफ़्साना जिसे अंजाम तक लाना न हो मुमकिन उसे एक ख़ूब-सूरत मोड़ दे कर छोड़ना अच्छा |