Raat ki shayari | raat ki shayari | रात शायरी|रात शायरी

Raat shayari-दिन की भाग-दौड़ और बेचैनियों को अगर रात का आसरा न हो तो ज़िन्दगी ख़्वाब देखने को भी तरस जाए।
रात का अंधेरा और सन्नाटा जितना भी भयानक हो शायरों ने इसे पूरी ईमानदारी के साथ हर रूप में देखा और दिखाया है।
लफ़्ज़ जब शायरी में दाख़िल होते हैं तो अपनी हदों को लाँघते हुए कई दुनियाओं की सैर कर आते हैं।
रात शायरी को पढ़ते हुए भी आप ऐसा ही महसूस करेंगे, हमें यक़ीन हैः
रात की रंगीनियों, ख़ामोशियों, सन्नाटे और अंधेरे को कवियों और शायरों ने अलग-अलग संदर्भों में बड़ी ईमानदारी से लफ़्जी जामा पहनाने की कोशिश की है।
‘रात’ शब्द का फिल्मी गीतों में भी बड़ी खूबसूरती से प्रयोग किया गया है। पेश है ‘रात’ के आलम पर शायरों बेहतरीन शायरी

Raat ki shayari

Bhigi-bhigi raat main rim-jhim ki barsaat main
Aao mere sathiya pyar hum karen

Khuda kare ye ghta aaj tootkar barse
Main dekhta hi rahon tujhko ji bhar ke
Dil ka rishta jod ke sari duniya chod ke
Bhigi-bhigi raton main pyar hum karen

Hzar raaton pe bhari ye raat ho jaye
Ye lab hile na hile aur baat ho jaye
Hulchul hai armanon main masti hai toofano main
Bhigi-bhigi raton main pyar hum karen

भीगी-भीगी रातों मैं प्यार हम करें
आओ मेरे साथिया प्यार हम करें

खुदा करे ये घटा आज टूट कर बरसे
मैं देखता ही रहों तुझको जी भर के
दिल का रिश्ता जोड़के सारी दुनिया छोड़के
भीगी-भीगी रातों मैं प्यार हम करें

Also read this : Best Holi wishes 2022

Also Read this : International Women’s day quotes 2022

aat ki shayari 19 raat poetry 30 good night ki shayari 21 raat ki shayari hindi 17 heart touching shayari in hindi pyar shayari hindi, raat urdu poetry
raat poetry

हज़ार रातों पे भरी ये रात हो जाए
ये लब हिले न हिले और बात हो जाए
हलचल है अरमानों मैं मस्ती है तूफानों मैं
भीगी-भीगी रात मैं प्यार हम करें

Raat ho gai

Dekho chirage -shaam jaliat raat ho gai
Phir maikade main noor ki barsaat ho gai
Be naam si khalish hai nazar badhwas hai
Koi sbab nahi hai magr dil udas hai
Kitni ajab surat-e-haalat ho gai
Phir maikade main noor ki barsaat hu gai

देखो चिरगे -शाम जली रात हो गई
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई
बे नाम सी ख़लिश है नज़र बदहवास है
कोई सबब नहीं है मगर दिल उदास है
कितनी अजब सुरते हालत हो गई
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई

Neend Shayari 2 Lines

Ek raat ko usne mujhe sota hoa choda
chal di wo kahen,pyar ko rota hoa choda

एक रात को उसने मुझे सोता हुआ छोड़ा
चल दो वो कहीं प्यार को रोता हुआ छोड़ा

Taqdeer kisi ko boore din naa dikhaye
Hote hain boore waqt main apne bhi praye

तक़दीर किसी को बूरे दिन ना दिखाए
होते हैं बूरे वक़्त मैं अपने भी पराये

Raat Ko Neend Nahi Aati Shayari

Jhan tlak ye hasen gungunati raat chale
Nazar-Nazar se mile dil se dil ki baat chale
Hmare dil ki tadap kuch to apne kaam aai
Kisi ka naam lon lab pe tumhara naam aai

जहाँ तलक ये हसीं गुनगुनाती रात चले
नज़र-नज़र से मिले दिल से दिल की बात चले
हमारे दिल की तड़प कुछ  तो अपने काम आए
किसी का नाम लूँ लब पे तुम्हारा नाम आए

Raat Ko Neend Nahi Aati Shayari In Hindi

Be naam si khalish hai nazar badhwas hai
Koi sbab nahi hai magr dil udas hai
Kitni ajab surat-e-haalt ho gai
Phir maikade main noor ki barsaat hu gai

बे नाम सी ख़लिश है नज़र बदहवास है
कोई सबब नहीं है मगर दिल उदास है
कितनी अजब सुरते हालत हो गई
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई

Ae dil teri aahon

Ae dil teri aahon main asar hai ki nahi
Jo haal idhar hai wo udhar hai ki nahi
Jinki khatir raaten meri be-khwab hoen
unko mere is gam ki khabar hai ki nahi

ए दिल तेरी आहों में असर है की नहीं
जो हाल इधर है वो उधर है की नहीं
जिनकी खातिर रातें मेरी बे- खवाब होईं
उनको मेरे इस गम की खबर है की नहीं

raat ki shayari, raat poetry , good night ki shayari , raat ki shayari hindi heart touching shayari in hindi , pyar shayari hindi ,raat urdu poetry
hear-t touching- shayari

Zulf shayari

Jab baharen chaman main khilti hain
Teri zulfon ki baat hoti hai
Ye suljhe to din niklta hai
Ye jo uljhhe to raat hoti hai

जब बहारें चमन मैं खिलती हैं
तेरी ज़ुल्फों की बात होती है
ये जो  सुलझे तो दिन निकलता है
ये जो उलझे तो रात होती है

Nind Ki Shayari

Nind nahi aati jaagtaa rehta hon main
Tere intezaar main beqrar rehta hon main
Aaja bta don tujhe,dil ka armaan hai tu
kaise kahon tu mohabbat hai meri
yaad mein teri tadptaa hon main
Tujhe aur koi dekhe tu bardaasht nahi hota hai mujhhe
Ab to smajh jaa,ke tu chahat hai meri
Tu hi khwahish Tu hi tamnna hai meri
Tu hi pehli tu hi aakhri mohbaat hai meri
Dur bhi ho to mehsoos karta hon tujhe
Pass aao tu mehkti hain saanse meri
Rooh ki pyas hai dil ka armaan hai tu
Tu jaan-e-tamnna hai rage jaa hai meri

नींद नहीं आती जागता रहता हों मैं
तेरे इंतज़ार में बेक़रार रहता हों मैं
आ जा बता दूँ तुझे , दिल का अरमान है तू
कैसे कहों तू मोहब्बत है मेरी
याद में तेरी तड़पता हों मैं
तुझे कोई और देखे तू बर्दाश्त नहीं होता है मुझे
अब समझ जा,के तू चाहत है मेरी
तू ही ख़्वाहिश तू ही तमन्ना है मेरी
तू पहली तू ही आखिरी मुहब्बत है मेरी
दूर भी हों तो महसूस करता हों तुझे
पास आओ तो महकती हैं सांसें मेरी
रूह की प्यास है दिल का अरमान है तू
तू जाने तमन्ना है रगे जाँ है मेरी

Raat tere bagair 

Raat Kya Zindagi guzari tere bagair
Jag kar Umr guzari Tere bagair
Phoolon par bhi kaanton Ko mehsoos Kiya Hai Humne
Is Tarah Hayat Guzari Tere bagair

रात क्या ज़िंदगी गुज़री तेरे बगैर
जाग कर उम्र गुज़ारी तेरे बगैर
फूलों पर भी कांटो को महसूस किया है हमने
इस तरा ह हयात गुज़ारी तेरे बगैर

Raat Ki Tanhai Shayari

Yaad Teri Har Pal Satati Hai Mujhe
Raat ko neend nahi aati hai mujhe
Jab Bhi Tera Haseen Khayal Aata Hai Mujhe
Phir Badi chain ki Saans Aati Hai Mujhe

याद तेरी हर पल सताती है मुझे
रात को नींद नहीं आती है मुझे
जब भी तेरा हसीन खयाल आता है मुझे
फिर बड़ी चैन की सांस आती है मुझेri

Yaad Teri Jagati hai 

Pahle pattharon par bhi neend aa Jati Thi Ha
Reshmi Bistar Bhi Stata hai ab Hamein
Karwat Badal Guzarti Hai Har Raat ab Meri
Yaad Teri Har Raat Jagati hai ab Hamein

पहले पथरों पर भी नींद आ जाती थी हमें
रेशमी बिस्तर भी सताता हैअब हमें
करवट बदल गुजरती है हर रात अब मेरी
याद तेरी हर रात जगाती है अब हमें

Pyar ke jazbaat

Teri Yaad Jagati Hai Yun Raaton Mein
Chain Aata Nahi Khwahish-e- mulaqaton mein
Lipat Gaye Hain Mere Khawab Teri Yaadon Se
Zindagi Madhosh Hai Pyar Ke jazbatoon Mein

तेरी याद जगाती है यूँ रातों मैं
चैन आता नहीं ख़्वाहिश -ए मुलाक़ातों मैं
लिपट गए है मेरे ख्वाब तेरी यादों से
ज़िंदगी मदहोश है प्यार के जज़्बातों मैं

ishq hai 

Tanhai Mein Muskurana Ishq Hai
Is Baat Ko Chupana Ishq Hai
Raat Mein aahen bharna Ishq Hai
Tadap Ke Dil Ko thaam Lena Ishq Hai

तनहाई मैं मुसकुराना इश्क़ है
इस बात को छुपाना इश्क़ है
रात मैं आहें भरना इश्क़ है
तड़प के दिल को थाम लेना इश्क़ है

raat ki shayari, raat poetry, good night ki shayari, raat ki, shayari hindi , heart touching shayari in hindi pyar, shayari hindi , raat urdu poetry
good night ki shayari

Raaton Ko Tera tasavoor

Raaton Ko Tera tasavoor stata hai ab Hamein
Ek Pal Bhi Nahi chain aata hai ab Hamein
Sab Puchte Hain Humse kyun takte ho Aasman ko
Kya Bataun Chand main Nazar Aata Hai tu hamein

रातों को तेरा तस्सवुर सताता है अब हमें
एक पल भी नहीं चैन आता है अब हमें
सब पूछते हैं हमसे क्यों तकते हो आसमां को
क्या बताओं चाँद में नज़र आता है तू हमें

raat ki shayari ,raat poetry, good night ki shayari , raat ki shayari hindi , heart touching shayari in hindi , pyar shayari hindi , raat urdu poetry
raat ki shayari

1 thought on “Raat ki shayari | raat ki shayari | रात शायरी|रात शायरी”

Leave a Comment

Thor: Love and Thunder’ Trailer Breakdown Love status | Whatsapp status love Anime love quotes | Quotes about love anime Bhool Bhulaiyaa 2 box office day 4 collection Priyanka Chopra Nick Jonas | Nick Jonas Priyanka Chopra Photos